छत पे मिली वर्जिन चूत

हाय फ्रेंड मेरा नाम चंदन है आपने तो मेरी हिन्दी सेक्स स्टोरी ‘नदी किनारे चुत पुकारे’ पढ़ा होगा ये उसका दूसरा पार्ट है एक दिन मैं घर मे बैठा हुआ था की अचानक एक लड़की घर मे आई वो दिखने मे बहुत सुंदर थी उसकी साइज़ भी मस्त थी वो एक टॉप और स्कर्ट पहनी हुई थी एक दम मस्त थी गॅंड का साइज़ भी अछा था और बूब्स का भी.

वो मुझे थोड़ा स्माइल देके घर के अंदर चली गयी और दादी के साथ लौटी दादी ने मेरा और उसका इंट्रोड्यूस किया उसका नाम नीलम था और दादी अंदर चली गयी और वो मेरे पास बैठ के बात करने लगी मैने पूछा तुम कोनसे क्लास पे पढ़ ते हो.

तो वो बोली मैं 12थ मे हूँ और उसने बोली तुम रोज रात को छत पे सोते हो ना मैने कहा हाँ तुम्हे कैसे पता वो बोली मैं भी तुम्हारे बगल वाले घर के छत पे सोतिहूँ.

मैने कहा की कभी देखा नही है वो बोली की मैं तुम्हे रोज देखती हूँ फिर नीलम बोली ठीक हैं अब तो थोड़ा काम है रात को छत पे बात करते हैं मैने कहा ठीक है.

फिर जब रात 11 बज रहे थे तो मैं छत पे गया एक बेड पे लेटा था की अचानक नीलम आके मेरे पास बैठ गयी और हम ने थोड़ा बात करने लगे कुछ देर बात करनेके बाद अचानक नीलम बोली की तुम नदी किनारे रोज जाते हो ना मैने कहा हाँ.

वो बोली क्यूँ मैने कहा ऐसेही घूमने तो वो बोली मुझे मालूम है तुम घूमने नही उस आंटी को चोदने जाते हो मैने कहा तुम्हे कैसे पता तो बोली मुझे सब मालूम है एक दिन मैं उधर से गुजर रही थी तुम उसकी चुत को चाट रहे थे मैने कहा फिर क्या किया मैने तो वो बिना शरमाये सब बोल रही थी.

फिर बोली की फिर तुमने अपना लंड उसके चुत मे डाल दिया और उसे चोदने लगे मैने कहा अछा तुम्हे तो बहोत कुछ मालूम है तुमने कभी किसी से चुदवाया है तो वो बोली नही अबतक तो नही तो मैने कहा ठीक है आज तुम्हारे सील तोड़ ते है तो वो बोली अछा है.

More Sexy Stories  जालंधर मे देल्ही की भाभी को चोदा

मुझे तो गर्मी बहोत था इस लिए मैं एक टॉवेल मे था और मैने अपना टॉवेल निकाल दिया और बोला देख इतना बड़ा लंड है मेरा ले पाएगी तो वो मेरा लंड हाथ मे लेके हिलाने लगी और बोली हाँ क्यूँ नही ज़रूर ले सकती पहेले थोड़ा दर्द होगा बाद मे मज़ा भी आएगा फिर वो मेरा लंड चूसने लगी मैने कहा कोई आएँगा तो नही.

तो वो बोली कोई नही आएगा हमारे घर मे सब सो चुके हैं तुम्हारे दादा दादी तो रात को छत पे आते नही है मैने कहा ठीक हैं और वो मेरा लंड चूसने लगी और मैं उसका टॉप उतार के बूब्स दबाने लगा बहुत बड़ा बूब्स था मैने कहा इतना बड़ा बूब्स तेरा कैसे हुआ तो वो बोली मेरी सहेलियाँ सारे बदमाश है जब हम सब एक साथ होते हैं एक दूसरे का बूब्स दबाते हैं और चुत मे उंगली भी करते हैं और इंटरनेट से ब्लू फिल्म डाउनलोड करके देखते भी हैं.

मैने कहा अछा ठीक है इस लिए तुम इतना कुछ जानते हो सेक्स के बारे मे फिर मैं टॉवेल निकाल दिया और उसे बेड पे लेटा दिया उसका स्कर्ट उतार दिया वो पैंटी नही पहनीति मैने कहा तुम पैंटी नही पहनती हो तो वो बोली कभी कभी ,मुझे मालूम था तुम मुझे चोदने वाले हो इस लिए मैने कहा तुम्हे कैसे पता.

तो वो बोली जो लड़का एक आंटी को चोद सकता है एक जवान लड़की को क्यूँ नही चोदेन्गा मैने कहा सही बात है और मैं उसकी चुत चाटने लगा उसकी चुत मे बाल ही नही थी जब पूछा.

तो बोली की वो रोज़ क्लीन करती है और मैं चुत चाटने लगा कुछ देर चाटने के बाद फिर मैने अपना लंड उसके माउत मे दिया और वो चाटने लगी और पूरा गीला कर दिया फिर मैं धीरे से उसकी चुत मे लंड घुसाने लगा उसकी चीख निकल पड़ी फिर वो थोड़ा कंट्रोल किया और मैं धीरे धीरे चोदने लगा.

More Sexy Stories  बस से चुदाई तक आ सफ़र

थोड़ी देर चोदने के बाद देखा की उसकी चुत से थोड़ा खून निकल रहा है तो मैने कहा तेरा खून निकल रहा है तो वो बोली मुझे पता था खून निकलेगा क्यूँ की मैं ब्लू फिल्म मे देखा था की जब एक लड़की वेर्जिन होती है और उसका कोई सील तोड़ता है तो खून निकलता है तुम अपना काम करो फिर मैं उसे चोदने लगा.

10 मिनट चोदनेके बाद मैने फिर से अपना लंड दिया चूसने के लिया कुछ देर चूसने के बाद उसे मैं डॉगी पोज़ मे कर दिया और धीरे से उसकी चुत मे थोड़ा उंगली किया और अपना लंड घुसा दिया और ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा फिर 15 मिनट तक ऐसे ही चोदने लगा.

फिर मैं झड़ने वाला था मैने कहा जब ब्लू फिल्म मे झड़ने वाले होते हैं तो क्या करते है.

वो बोली की लड़के लंड लड़की के माउत पे दे देते हैं और लड़कियाँ सारा माल पी लेती है मैने कहा तू पीएगी तो बोली हाँ क्यूँ नही फिर मैने अपना लंड उसकी मौत मे घुसा दिया ज़ोर ज़ोर से उसकी मौत को चोदने लगा जब मैं झाड़ने वाला था तो मेरा पूरा लंड उसकी माउत मे था और वो सारा माल पीली और हम बेड पे लेट के ऐसे बात कर रहे थे और नीलम मेरे लंड को पकड़ के थी और मैं उसके बुब्स दबा रहा था और कभी कभी उसकी चुत मे उंगली कर रहा था की अचानक मेरा लंड खड़ा हो गया.

Pages: 1 2