कॉल सेंटर की बड़ी गांड वाली लड़की की चुदाई

कोमल की मटकती गांड को देख कर भला किसका उसे चोदने को मन नहीं होता. ढीले टी शर्ट और सेक्सी जींस पहन के वो जब भी कॉल सेंटर पर काम के लिए आती थी तो लंड में हलचल मचा देती थी. कभी कभी लगता था की नहीं ये गलत हैं मैं उसका सुपरवाइजर हूँ! लेकिन अगले ही पल जैसे लंड कहता था की भाई हमारे भी अरमान है और वो दिखा रही हे अपने बदन को तो लंड भी ले लेगी! कोमल एक राजस्थानी मारवाड़ी परिवार से थी और उसके पापा की यहाँ बंगलौर में ही गारमेंट की शॉप थी. और उसका भाई भी वही पर था उसके पापा के साथ. वैसे कोमल को पैसे के लिए नहीं लेकिन बस टाइम पास के लिए ये जॉब करना अच्छा लगता था. और मैं इस फिल्ड में पुराना हूँ इसलिए मैं जानता था की टाइमपास का एक मतलब कुछ और भी होता है! बहुत सब लड़कियों को घर की चार दिवारी में चुदवाने की इच्छा मारनी नहीं होती है. इसलिए वो बहार जॉब कर के पैसे भी लेती हैं और लंड भी!

कोमल भी मुझे इस केटेगरी की ही लग रही थी. एक डेढ़ महिना और ऐसे चलने दिया. और फिर मैं उसे लेट शिफ्ट में अपने साथ ज्यादा डालने लगा. मैं दोपहर को डेढ़ बजे स्टार्ट करता था और नाईट में 10 बजे मेरी शिफ्ट खत्म होती थी. एक नाईट को मैंने कोमल से कहा कोमल मेरी कार आज वाइफ के पास है क्या तुम मुझे लिफ्ट दे सकती हो? वो मान गई. मैंने जानबूझ के अपने लंड को टाईट कर रखा था उसके नंगे बदन की कल्पना कर कर. उसके पीछे जानबूझ के एकदम करीब बैठा ताकि उसको मेरे लंड की गर्मी का अहसास हो! उसके और मेरे बिच में करीब कुछ इंच का ही अंतर था. और हरेक खड्डे के साथ मैं थोडा और आगे हटा था. 10 मिनिट की स्कूटी ड्राइविंग में तो मैंने अपना लंड उसकी बड़ी गांड पर टच कर दिया था. और शायद वो भी एन्जॉय कर रही थी मेरे लंड की गर्मी को. मैं जानबूझ के उसके कूल्हों पर लंड को दबा रहा था. जब वो कुछ नहीं बोली ना ही उसने कोई बॉडी लेंग्वेज से रिएक्ट किया. और उसकी वजह से मेरी हिम्मत बढती ही गई. मैंने धीरे से अब अपने हाथ को उसकी कमर पर रख दिया और कहा, यार ये खड्डे ज्यादा है और रोड कम!

More Sexy Stories  दूध भरे मम्मों वाली आंटी ने चूत चुदवा ली

वो कुछ ज्यादा नहीं बोली सिर्फ हम्म्म्म किया उसने. लेकिन मैंने हाथ वहां से हटाया ही नहीं अब. वो मैं धीरे से हाथ को दबाता गया. और फिर दूसरी साइड से एक और हाथ को उसकी कमर पर रखा. और तब जो हुआ वो मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था. अब उसने अपनी बॉडी को पीछे की तरफ की जैसे वो अपनी गांड को मेरे लंड से टच करवाना चाहती हो! मेरे दिल कागार्डन एकदम बहार में आ गया. और मैंने हाथ को थोड़ा आगे कर के उसके पेट पर रखा और सहलाया. बहार सडक पर अँधेरा ही था. बिच बिच में मरक्युरी लेम्प आते थे बस. मैंने उसके बूब्स की तरफ उंगलिया बढाई. उसकी ब्रा के कपडे का टच मेरे को हो रहा था और उसकी कडक निपल्स की फिलिंग भी. कोमल ने कहा सर?

मैंने कहा, घबराओ नहीं, सिर्फ टच ही करूँगा!

वो बोली, लेकिन रोड पर नहीं प्लीज़!

मैं समझ गया की वो भी लंड ले लेगी. और किस्मत आज मेरी भी एकदम मेरे ऊपर महरबान थी. मेरे दोनों रूम पार्टनर आज इवनिंग शिफ्ट में थे और कमरा हम दोनों के लिए खाली ही था. मैंने अब कोमल की गांड को सहलाई. उसने जींस पहनी हुई थी जिसके अन्दर उसकी बड़ी गांड मेरे सामने ही थी.

और पांच मिनिट में मेरा घर आ गया. वो मुझे उतार कर जाने को रेडी थी. मैंने कहा, अंदर तो आओ यार!

वो बोली, लेट हो जाएगा घर के लिए!

मैंने कहा कॉल कर के बोल दो की एक क्लाइंट का कॉल आने को है इसलिए आधा घंटा लगेगा!

More Sexy Stories  Boss Ke Saath Mast Chudai – Part 2

वो हंस के बोली, आधे घंटे में आप जाने दो गे?

मैंने कहा फिर आप एक घंटा बोल दो!

उसने ऐसा ही किया स्कूटी को पार्क कर के. मैंने लाईट नहीं ओन की बहार की क्यूंकि लेंडलार्ड साला नोकझोंकी कर सकता था. अँधेरे में ही मैंने लोक खोला मोबाइल की फ्लेश लाईट से. और कोमल जैसे ही अंदर आई मैंने दरवाज को एकदम से बंद कर दिया. वो मेरे सामने ही थी और मोबाइल की फ्लेश लाईट में उसका फेस देखा मैंने. वो मेरे को ही देख रही थी. मैंने मोबाइल को सोफे पर फेंका और उसे अपने गले से लगा लिया.

उसने भी एकदम से मेरे लंड को चेक करने के लिए उसके ऊपर अपने हाथ रख दिया. मैंने उसकी बड़ी गांड को दोनों हाथस इ दबाई. वो बड़ी गांड की साइज़ कम से कम 40 इंच की तो होगी ही. कोमल के बदन से हलकी लेडिज परफ्यूम की महक आ रही थी. और मैंने उसके शर्ट के ऊपर ही उसके शोल्डर पर किस किया. मेरे होंठो पर उसकी ब्रा की स्ट्रिप का अहसास हुआ जिस से मेरे बदन में एक तेज सेक्स की लहर दौड़ गई.

मैंने अपने लंड को फटाक से पेंट से निकाला! वो मेरे लंड को पकड के हिलाने लगी. और बोली, सर जल्दी करना होगा मुझे जल्दी घर जाना है!

मैंने कहा, यस कम ओन, मुहं में ले लो पहले इसे!

वो घुटनों के ऊपर बैठी और उसने लंड को आधे से ज्यादा अपने मुहं में भर लिया. वो निचे मेरे बॉल्स को पकड के हिलाने लगी और लंड को चूसने लगी. वो अम्मम्म अह्म्म्मम्म अहम्म्म्म की आवाजें निकाल रही थी. और साथ में लंड को चूस रही थी. एक हाथ से वो मेरी जांघ को भी सहला रही थी जिस से मेरा लंड और भी कडक हो रहा था.

Pages: 1 2