बस मे चुदाई का सुहाना सफ़र

सो कमिंग टू द माय स्टोरी, ये पिछले मान्सून की स्टोरी है, मेरी कार मे कुछ प्राब्लम आया था तो मुझे लक्ज़री बस की टिकेट लेनी पड़ी, ट्रेन तत्काल का भी टाइम नही था, मैने ट्रॅवेल वाले से कहा स्लीपिंग एसी मे देना.

मेरी किस्मत इतनी बढ़िया होगी मुझे नही पता था, मैने अहमदाबाद से 8 पीयेम को बस बोर्ड की, करीबन 10:30 को बरोडा से एक बंदी मेरी ही सीट शेयर करने आ गयी.

स्लीपिंग एसी मे उपर बड़ी जगह होती है, या तो सिंगल या फॅमिली के लिए, लेकिन मुझे बड़ी सीट मिली थी, और कोई और सिंगल सीट अवालेबल नही थी, तो उस बंदी को मेरे साथ शेयर करनी पड़ी.

मुझे नींद लग चुकी थी, शायद उसे ऐतराज़ था एंड आस्क्ड फॉर अ लॅडीस सीट ऑर अ सिंगल सीट, बट उस रात बोहोत तेज बारिश हो रही थी और बस एक दम जॅम पॅक्ड थी, सो शी फाइनली अग्रीड एंड वोक मी अप एंड सेड मुझे भी जगह दीजिए आई ऑल्सो शेयर दिस.

मेरे तो होश ही उड़ गये, उसने वाइट टी शर्ट और पैजाम पहने हुए थी,, और भीगने के कारण, उसका ट्रॅन्स्परेंट वाइट टी शर्ट मे से क्लियर ब्रा दिख रही थी जो की बोहोत ही अछि थी, शायद डिज़ाइनर ब्रा थी.

क्यूंकी बारिश का मौसम था, मैने शॉर्ट्स और टी शर्ट पहना था, करीबन 15 मिनट्स के बाद लाइट्स ऑफ हो गयी, हम लोगो ने क्याजुअल बाते की जैसे हाय / हेलो, नाम पूछ लिया था.

वो शायद मुझे पसंद नही करती थी ऐसा मुझे लगा, इसलिए मैने भी भाव नही दिया और लेट गया ,,,,करीबन 25 मिनट्स के बाद मुझे लगा, जैसे मेरे उंगलिया उसके उंगलियो को टच कर रहे है, मैने हाथ पीछे खिच लिया, फिर ऐसा लगा जैसे शायद कही वो तो मुझे छुना नही चाहती,ये सोचके ऐसे ही पड़ा रहा बिना हीले और हाथ छोड दिया.

फिर से उसने उंगलिया टच की, बताना भूल गया उसकी उमर करीब 35-36 होगी, मगर एक नं. बॉम्ब थी, शायद शादी शुदा भी थी, मंगल सुत्र तो नही दिखा पर चैन थी फिगर 36-32-36, और फेस इतना इनोसेंट, और बोहोत फेयर, अंधेरे मे भी उसकी शकल सॉफ दिख रही थी, मैने इस बार ध्यान दिया शायद वो तो मुझे छूने की कोशिश नही कर रही.

More Sexy Stories  लेस्बियन बहने सेक्स कहानी पढ़ कर किया सेक्स

मैने उसे पकड़ लिया, मैं समझ गया, भीगी हुई थी और मेरी फिज़ीक, पर्सनॅलिटी देख कर लट्टो हो गयी, मैने उसका हाथ ही पकड़ लिया,,वो डर गयी, और हाथ पीछे ले लिया, कुछ सेकेंड के बाद वापिस उसने हाथ छुआ, इस बार मैने हल्के से हाथ पकड़ा, करीब 30-40 सेकेंड हमने हाथ पकड़ के रखा, फिर क्या था अब मैने उसका हाथ चूम लिया और उसके टी शर्ट मे हाथ डाला, वो एकदम से काप गयी, और मेरा हाथ झटक दिया.

अब मैं पीछे हटने वाला कहा था, फिर से मैने टी शर्ट मे हाथ डाला, इस बार उसने मेरा हाथ नही रोका, मैं सीधा बूब्स पे पहुच गया और धीरे धीरे दबाने लगा,वो मचल गयी, मैने हल्के हाथो से उसको कड़क, तड़प्ते हुए बूब्स को आज़ाद किया ब्रा मे से, और उसके निपल्स को मूह मे ले लिया, उसने ऐसे सिसक भरी, और मेरे बाल खिचने लगी, मे चूस्ता रहा, वो मचल ती रही.

फिर मैने उसके पैजामे को उपर से ही टच किया, पता चला नीचे गीला हो चुका था, अब मैने उसका पैजामा भी उतार दिया और वो सिर्फ़ पैंटी मे थी, वो बोली प्लीज़, ये बस है वी कॅन मीट आउटसाइड, मैने कहा वो तो मिलेंगे ही पर आज की रात कैसे निकालु.

वो बोली तुम बोहोत चालू हो, मैने कहा चालू नही हू, तुम हो ही ऐसी, मैं तो पागल हो गया हू, फिर मैने उसके लिप्स को किस करना चाहा.

तो वो बोली नो लिप्स प्लीज़, आई डॉन’ट गिव लीप किस टू एनिवन एल्स अपार्ट फ्रॉम माय हब्बी, मैने मूह फेर लिया, मुझे पता था वो इतनी गरम है की कुछ भी करेगी, उसने 2-3 बार मुझे बुलाया मैने कहा किस कर ने दे तो ही आउन्गा, तो वो बोली ठीक हैं सिर्फ़ एक, मैने सीधे उसके लिप्स को किस करना शुरू किया,,, उसके टंग को मूह मे लिया और खेलता रहा, वो पूरी तरह राउस हो चुकी थी.

More Sexy Stories  एक अंजान कुँवारी चूत

करीब 5 मिनट्स के बाद मैने उसका मूह छोड़ा, वो बोली शिट आज तक ऐसे फ्रेंच किस नही की मैने, और सामने से मुझे किस करने लगी, मेरा एक हात उसके चुत को सहला रहा था और दूसरे हाथ से उसके बूब्स दबा रहा था, और असली काम तो मेरे होट कर रहे थे, वो पूरी तरह मेरे बहो मे मदहोश हो चुकी थी, अब मेरा इरादा उससे अपना लंड चुसवाना था, मैं वेट कर रहा था कब वो मेरी शॉर्ट्स मे हाथ डाले, और उसने डाला और बोली प्लीज़ मुझे चोद दो.
मैने कहा नही तुम पहले मुझे अच्छा ब्लोवजोब दो, उसने काहा मैने आज तक ब्लोवजोब नही दिया, मुझे उल्टी हो जाएगी, मैं माना नही ,बोला कुछ नही होगा तुम एक बार लो तो सही, उसके पास और कोई ऑप्षन नही था, उसे चुदवाना था, अब उसने मेरे शॉर्ट्स को नीचे उतारा तो वो डर गयी इतना बड़ा,6.5 इंच का लंड ओएमजी.

मैने कहा चूसो तो सही, वो धीरे धीरे किस करने लगी, मैने पूरा धक्का ही मार दिया उसके मूह मे, करीब 20 से. के बाद ही निकाला, वो बोली वाउ मज़ा आ गया.

मैने कहा जानू और चूसो, अब की बार मैने उसे पूरा चुस्वाया, वो चुस्ती गयी, मुझे मज़ाअ आ रहा था, वो पागलो की तरह चुस्ती गयी, मैं उसके मूह मे ही झड़ गया, वो पूरा रस पी गयी और बोली, आज मुझे कई सालो के बाद मज़ा आया.

Pages: 1 2