बीवी ने कराई बहन की चुदाई

जब वो खेलती थी उसके बूब्स उसके उछालने पर ऐसे उछलते थे जेसे की कोई रब्बर उछालती हो और उसके गोरे गोरे चिकने पार्ट देख कर तो मेरा लोडा एक घोड़े के लोडे की तरह खड़ा होजता था और मन करता था की बस उसको पकड़ कर लंबा कर चोद डालु.

उधर मुझे अपनी ही बीवी के मूह से ऐसी भैया जेसी बात सुन कर ऐसा लग रा था जेसे की वो मेरी खुद की बेहन है और मैं उसे काजल समझ कर चोदा जा रा हूँ और बस चोदा जा रा हूँ.

सुषमा – वैसे एक बात काहु बुरा तो न्ही मनोगे!

मैं – अरे मेरी जान मैने आज तक कभी तेरी बात का बुरा माना है क्या जो आज मानूँगा.

सुषमा – अछा जी ऐसी बात है.

मैं – हाँ मेरी जान ऐसी ही बात है.

सुषमा – मैं जब आपसे चुदवा रही थी और आपको भैया बोल रही थी तो मुझे ऐसा लग रा था की मैं अपने भैया तरुण से चुदवा रही हूँ.

मैं – अछा जी तो तुम अपने भाई से चुदवाती हो तो क्या हुआ मुझे इसमे कोई ग़लत बात न्ही लगी.

सुषमा – तो फिर चलो अब ऐसे ही खेल खेलते है.

मैं – खेल खेलते है, ठीक है पर बताओ तो केसा खेल खेलना है.

सुषमा – अब तुम मुझे अपनी बेहन काजल समझो और मैं तुम्हे अपना भाई तरुण समझती हूँ और फिर देखो कितना मज़ा आता है.

मैं – ठीक है.

बस फिर उसके बाद वेसा ही हुआ जेसे की हमने सोचा था और कमरे से आअहह आहह की आवाज़े आ रही थी. और फिर करीब 20 मिनिट ऐसे करने के बाद मेरी बीवी की चूत ने पानी छोड़ दिया और उधर मेरा भी पानी निकल गया और फिर हम सो गये.

अगले दिन सुबह हम बैठ कर ब्रेकफास्ट कर रहे थे की तभी मेरी बीवी ने मुझे काजल के कमरे की तरफ देखने का इशारा किया और फिर जो मैने देखा तो वो मैं देखता ही रह गया.

More Sexy Stories  पापा ने देखी हम बहन भाई की चुदाई

मैने देखा की काजल नीचे बैठी हुई थी और वो कुछ ढूँढ रही थी जिससे उसने सिर नीचे कर रखा था और उसके बूब्स बाहर आ रहे थे और सॉफ सॉफ दिखाई भी दे रहे थे. उधर पंखे से उसकी मिडी भी उठ रही थी और उसके चूतड़ सॉफ सॉफ दिखाई दे रहे थे और तो और उसकी चूत की जवानी भी उसकी पनटी मे पूरी तरह चुप्पी न्ही हुई थी और वो चाँद की तरह बाहर झाँक रही थी.

ये सब देखते ही मेरा लंड एक दम से डंडे की तरह खड़ा हो गया था और ये मेरी बीवी ने देख लिया था और ये देखते ही मेरी बीवी बोली.

सुषमा – अरे वा काजल को ऐसे देखते ही लंड खड़ा हो गया.

मैं – क्या करू अब अपनी बेहन की जवानी देख कर खुद को कंट्रोल करना बहुत मुश्किल है.

सुषमा – अछा जी तो फिर खुद ही कोई इलाज़ कारलो क्योकि किसी बाहर के लड़के को मैं अपने घर की इज़्ज़त न्ही दूँगी.

और फिर ये कह कर हम कमरे मे आ गये और सुषमा मुझे लंबा लेटा कर मेरे लंड को बड़े पायर से हाथ मे सहलाती हुई मूह मे लेने लग गयी. उसके ऐसे करने से मुझे बहुत मज़ा आ रा था और मैं उसके बूब्स के निपल को उपर से ही पकड़ कर दबा रा था.

मेरी बीवी मेरे लंड को चूस रही थी तभी काजल दरवाजा खोलते हुए अंदर आ गयी और जेसे ही वो अंदर आई उसकी नज़र मेरे लंड पर पड़ी और वो देखती ही रह गयी. सुषमा ने उसे देखा तो उसने लंड को मूह से निकाला और एक दम से लंड को छिपा दिया.

उधर काजल शर्मा कर बाहर की और भाग गयी पर अगले ही 2 पल बाद सुषमा ने उसे आवाज़ दी तो वो अंदर आ गयी और फिर सुषमा के पास बैठ कर बोलने लग गयी की भाभी आज सारा दिन घर पर क्या करेंगे, आज तो पक्का बोर ही होज़ाएँगे.

More Sexy Stories  बहनो ने चुदाई चूत अपने भाई से

सुषमा ने काजल की बात को समझा और फिर उसे कपबोर्ड से कार्ड्स निकालने को खा ताकि हम कार्ड्स खेल ले और टाइम भी पास हो जाए.

फिर काजल कार्ड्स ले आई और हम तीनो बैठ गये तो सुषमा बोली की चलो बेट वाली बेगम खेलते है इसमे हमे काफ़ी मज़ा भी आएगा और टाइम भी अच्छे से पास हो जाएगा. सुषमा की ये बात सुन कर हमे काफ़ी अछा लगा और फिर मैने सबसे पहले कार्ड्स बँटे तो पहली बारी मे काजल जीत गयी तो उसने सुषमा से डॅन्स करने को कहा और फिर उसने भी थोड़ा डॅन्स करके दिखा दिया और हम फिर से खेलने लग गये.

अब की बार सुषमा जीत गयी तो उसने मुझे काजल के उपर वाले कपड़े को उतरने को कहा तो हम दोनो भाई बेहन शरमाने लग गये. तो सुषमा बोली की इसमे शरमाना कोई न्ही है क्योकि जो बेट लगाई है तो उसे पूरा करना ही पड़ेगा.

फिर हम दोनो ने भी उसकी बात मान ली और फिर उसके बाद मैने उसके कपड़े उतार दिए और जेसे ही काजल ब्रा और पनटी मे आई तो मैं तो उसे देखता ही रह गया और ये देख कर मेरा लंड भी खड़ा हो गया.

अब हमने दुबारा से गेम खेली तो अबकी बार सुषमा फिर से जीत गयी और उसने मुझे काजल को किस करने को कहा तो मैने भी अपनी बेहन के गालो पर किस कर डाली और दाँत से काट भी दिया जिसका उसे भी दर्द होने लग गया. पर तभी सुषमा बोली की गाल पर न्ही लीप किस करो तो मैने वो भी करदी और वो करके हमे बहुत ज़्यादा मज़ा आया.

Pages: 1 2 3