भाई के साथ सेक्सी राते – भाई बहन का सेक्स

इसलिए मैं बोली चल रॉकी अब घर चलते हैं, ।यहां हमें कोई देख सकता है। बाकी काम घर जाकर करते हैं।

बस दीदी थोड़ी देर रुक जाओ मुझे बहुत मजा आ रहा है, रॉकी ने मुझे रोकते हुए कहा।

पर मैं घर की तरफ चल पड़ी, रॉकी भी मन मारकर मेरे पीछे पीछे घर की और चल पड़ा। रॉकी सारे रास्ते मुझे सेक्स के बारे में बातें करता रहा, शायद वह बहुत ही ज्यादा उत्तेजित हो चुका था।

कुछ ही देर में हम घर आ गए और हम अपने रुम में चले गए और अपनी बुक खोलकर स्टडी करने लगे।

पर मेरे दिमाग में तो रॉकी का लंड घूम रहा था और उधर रॉकी भी मुझे बार बार मुस्कुरा कर देख रहा था, रात हो चुकी थी मम्मी डैडी भी सो गए थे। वह उठा और अपने रूम की कुंडी लगा दी, मेरी तरफ मुड़कर मुस्कुराने लग गया और बोला चलो दीदी वही करते हैं अब।

आपकी बात सुनकर मेरे दिल की धड़कन तेज हो गई है, पर अब हमें कोई टेंशन नहीं थी, क्योंकि मॉर्निंग तक हमें कोई तंग नहीं कर सकता था।

मैंने कहा रॉकी कपड़े तो चेंज कर लें और सिर्फ पजामा ही डालना उपर।

रॉकी ने कहा हां दीदी आप भी बदल लो।

मैं एक काफी छोटा सा शोर्ट डाल दिया था कि वह जल्दी से ऊपर हो जाए और मेरी चूत एकदम सामने आ जाए।

और रॉकी ने भी अपना पजामा डाल दिया था, उसने मेरी तरफ देखते हुए अपनी दोनों बाहें फैला दी और मुझे मुस्कुराते हुए बुलाने लगा, मैं भी जाकर उसकी बाहों में समा गई और वह मुझे चूमने लगा। उसका लंड मेरी चूत पर लग रहा था, जो मुझे साफ साफ महसूस हो रहा था।

मेने रॉकी का पजामा नीचे खिसका दिया और उसका मस्त झूमता हुआ लंड बाहर निकाल लिया, मेरे लिए अब लंड पकड़ना बहुत आसान हो गया, रॉकी अपने हाथों से मेरे दोनों चूतड़ दबा रहा था। और मैं उसके उसका लंड पकड़ कर ऊपर नीचे करने लगी।

More Sexy Stories  दोस्त की मॉं नीता को चोदा

मुझे अब समझ आ गया था कि रॉकी मेरी तरह भोला बनने की एक्टिंग कर रहा था।

उसने कहा दीदी इसमें तो बहुत मजा आ रहा है यार।

मैंने कहा हां वह तो है तू भी और जोर से दबा पीछे से, अब मैं भी उससे खुलने लग गई, और उसका पूरा साथ देने लगी।

रॉकी बोला दीदी आपका सुसु कहां है वह खड़ा नहीं हुआ?

मैं हंसने लगी और बोली भाई हमारा यह डंडा नहीं होता जैसे तुम्हारे यह बूब्स नहीं होते, समझा।

तभी वह बोला अरे हां दीदी आपके मस्त बूब्स भी तो है।

कहते ही उसने अपने हाथ मेरे कुर्ती में डाल दिए और मेरे बूब को ढूंढने लग गया। मुझे इस में बहुत मजा आ रहा था। मैंने भी बड़े आराम से अपने दोनों बूब्स उसके हवाले कर दिए और उससे अपने बूब्स दबवाने लगी।

जोर से दबाओ ना, मैंने मस्त हो कर कहा।

क्यों दीदी उसे क्या होगा? और मेरे बूब्स के निप्पल पकड़ कर घुमा लिए मैं मस्ती में झूम पड़ी।

रॉकी जैसे तुम्हें अपने डंडे में मजा आता है ना बस वैसे ही मुझे अपने बूब्स में मजा आता है, मैंने थोड़ा शांत होकर उसका जवाब दिया।

अच्छा इतना मजा आता है, चलो दिखाओ अपना डंडा फिर। यह कहते ही उसने मेरी चूत पर अपने हाथ रख दिए और अपनी एक्टिंग चालू रखी, उसे अच्छे से पता था कि ऐसा कुछ नहीं होता, पर फिर भी वह लगा हुआ था।

आराम से मेरी जगह बहुत नाजुक है, उसके हाथ मेरी चूत पर घूम रहे थे। वह मेरा डंडा ढूंढ रहा था। और उसे वह कभी नहीं मिलने वाला था। तभी उसने अपनी उंगलियां मेरी चूत में घुसा दी और मेरे मुंह से आह्ह्ह औऊ अह्ह्ह निकल गई मैं, पूरी मस्त हो चुकी थी।

More Sexy Stories  हॉट दीदी के साथ प्यार की शुरूरत

भाई मैं खड़े खड़े थक चुकी हूं चल बेड पर चलते हैं, वहां आराम से करेंगे मैंने कहा।

उसने कहा ठीक है दीदी।

दीदी कपड़े उतार दो बहुत मजा आएगा, मैंने भी उसकी बात मान ली और सारे कपड़े उतार दिए। और मन ही मन सोचने लगी कि अब नाटक करने का कोई फायदा नहीं है वरना चुदाई में कोई मजा नहीं आएगा।

रॉकी एक बात सच सच बताओ।

उसने कहा हां ही बोलो दीदी।

मैने कहा – क्या तुमने किसी लड़की को चोदा है?

रॉकी डरते हुए बोला नहीं दीदी।

यह कैसे होता है कैसे करते हैं?

मैंने कहा अरे मेरे प्यारे भाई मैं किसी को कुछ बताऊंगी थोड़ी ना, बताना सच।

रॉकी कुछ सोचने लग गया और थोड़ी देर बाद बोला नहीं दीदी चलो अपनी मस्ती करते हैं।

अरे तेरा लंड तो साफ साफ बता रहा है कि उसने किसी चूत का पानी पिया हुआ है, बोलना। मैंने उस पर जोर देते हुए पूछा।

वो शरमाते हुए बोला, हां दीदी आपकी ही फ्रेंड है वह मुझसे प्यार नहीं करती बस चुद्वाती है।

मैंने कहा चल आ जा यह देख मेरी चूत भी चुद सकती है।

रॉकी ने कहा अरे दीदी फिर इतना पहले नाटक को क्यों किया?

यह तो मैंने बस तुझे खोलने के लिए किया, चल मुझे छोड़ दे अब, मैंने मीठे लफ्जों में कहा।

रॉकी भी शर्म छोड़ कर मुझे लिपट गया और किस करने लगा। मैंने भी उसके होंठों में होंठ में डाल कर किस किया और उसकी जीभ मुंह में लेकर चूसने लगी। अब उसने मुझे गोदी में उठाया और बिस्तर पर लेटा दिया। मैं उस को नीचे कर दिया और खुद उसके पास बैठकर लंड को हाथ में लेकर मसलने लगी। उसको बहुत मजा आने लग गया और वह मुह से सिसकियां भरने लगा, मैंने मुस्कुराकर चूत को लंड पर रखा और धीरे से उसके लंड पर चूत रखकर घुसा दीया।

Pages: 1 2 3