भाभी, मैं और चुदाई

हेलो दोस्तो, मैं नीरज आज पहली बार अपनी एक न्यू कामुकता स्टोरीस आप के साथ शेर करने जा रा हूँ. दोस्तो ये कहानी बिल्कुल सच है क्योकि ये घटना मेरे साथ सच मे हुई है. दोस्तो मैं इस कहानी मे आप को बताऊंगा की भाभी ने मुझे कैसे पटाया. और कैसे उन्होने मुझसे अपनी चूत की प्यास शांत करवाई.

हमारा घर उ .पी के एक छोटे से गाओं मे है. गाओं मे हमारा बहोत बड़ा घर है और पापा का बहोत नाम है. मेरे घर मे हम चार भाई और पापा और एक भाभी रहती है. मेरी मम्मी की डेत मेरे बचपन मे हो गई थी. इसलिए मैने मम्मी का प्यार कभी नही पाया. मैं घर मे सब से छोटा हूँ.
मेरे दो बड़े भाई पढ़ लिख कर बाहर एक बहोत बड़ी कंपनी मे जॉब करते है. और वो दोनो वही पर अपनी वाइफ के साथ रहते है. घर मे मेरा एक और भाई पापा के साथ खेत देखता है. और मैं अभी 12 वी क्लास मे स्टडी करता हूँ. मुझे भाभी बहोत प्यार करती है. और मुझे बहोत खुश रखती है.
सच कहु तो भाभी के आने के बाद मुझे मम्मी के प्यार की याद नही आती. वो दिखने मे भी बहोत ही सुंदर और सेक्सी है. अभी तक उनको कोई बच्चा नही हुआ है इसलिए वो मुझे अपना सारा प्यार देती है. पर मैं पीछे कुछ टाइम से नोट कर रा था की भाभी का प्यार अब सेक्स मे बदल रा था. वो मुझे जान कर अपने सीने से लगा कर मेरा मूह अपने बूब्स पर दबा लेती थी.

और कई बार वो मेरे लंड को भी पकड़ लेती थी. और मुझे वो तिरछी निगाहो से देख देख कर मुस्कुराती रहती थी. काफ़ी बार जब हम दोनो घर मे अकेले होते थे तो वो मुझ किस भी करती थी. और गंदे गंदे इशारे भी करती थी. मैं अपनी भाभी को मा की तरह समझता था इसलिए मैने अभी तक उनके बारे मे कुछ ग़लत नही सोचा था.
अब पापा काफ़ी ओल्ड हो चुके थे इसलिए हम ने उनकी देखभाल के लिए एक नौकर रख लिया था. जो की उनकी काफ़ी सेवा करता था. उसका नाम रामू था और वो हमारे ही गाओं का था. ऐसे ही कुछ दिन निकल गये मैं भाभी को इग्नोर करता रा. पर भाभी अपनी हरकटो से बाज नही आ रही थी.

More Sexy Stories  मेरी जवान भाभी बनी रंडी

एक दिन की बात है, पापा और भाईया किसी रिश्तेदार की डेत मे दूर किसी और गाओं मे गये हुए थे. और पापा के घर मे ना होने के कारण रामू हमारा नौकर भी अपने घर चला गया था. सुबह जब मैं उठा तो नहाने के लिए बाथरूम मे जा रा था. तभी मैने भाभी से अपना अंडरवियर माँगा तो भाभी ने मुझे खा. की तू नहा तो ले मैं दे दूँगी तुझे तेरा अंडरवियर.
कुछ ही देर मे मैं नहा चुका था और मैने आवाज़ दे कर भाभी को फिर से कहा की वो मेरा अंडरवियर मुझे पकड़ा दे. मैं बाथरूम मे टवल मे खड़ा हुआ था. की तभी अचानक दरवाजा खुला और भाभी बाथरूम मे अंदर आ गई. और मेरे पेट और कमर पर गुदगुदी करने लग गई. इस बीच मेरा टवल खुल गया और मैं भाभी के सामने पूरा नंगा हो गया. भाभी ने मेरा लंड अपने हाथ मे पकड़ लिया और उसे पकड़ कर ज़ोर ज़ोर से हँसने लग गई.

मुझे बहोत गुसा आया इसी लिए मैं बोला भाभी ये क्या बदमाशी कर रही हो आप, शरम नही आती क्या. और मैने भाभी को बाथरूम से बाहर निकाल कर अपना अंडरवेर डाला. और चुपचाप स्कूल चला गया. जब मैं दोफर को घर आया तो भाभी से बिना कुछ बोले अपने रूम मे बैठ कर स्टडी करने लग गया.
शाम को भाभी मेरे पास आई और बोली देखो तुम गुसा ना करो तुम मेरे देवर हो. और देवर और भाभी मे इतनी मस्ती तो चलती है. और सुनो अब मैं नहाने जा रही हूँ तुम सुबह का बदला ना लेना मुझसे प्लीज़. मैने उनकी बात का कोई जवाब नही दिया. और चुपचाप अपनी स्टडी करने लग गया.

करीब 5 मिनिट बाद भाभी ने आवाज़ दी और खा की मुझे साबुन पकड़ा दो. मैं उठा और घर के स्टोर मे से एक साबुन उठा कर उन्हे बाथरूम के बाहर से ही पकड़ा दिया. भाभी का एक हाथ बाहर था जिसमे मैने साबुन पकड़ा दिया था. तभी भाभी ने मेरा हाथ पकड़ा और मुझे अंदर खींच लिया. मैने देखा की भाभी पूरी नंगी मेरे सामने खड़ी है. मैं उनके बूब्स और चूत देख रा था.
तभी मुझे अपने नीचे कुछ महसूस हुआ मैने देखा की भाभी ने मुझे नीचे से पूरा नंगा कर दिया है. और वो खुद नीचे बैठ कर मेरा लंड चूस रही है. मुझे इतना अच्छा लग रा था की मैं उन्हे रोक नही पाया. फिर भाभी ने मुझे बाथरूम मे ही लीटा दिया और वो मेरे उपर 69 की पॅज़िशॅन मे आ गई. करीब 30 मिनिट तक मैं उनकी चूत चट्टा रा और फिर हम डोनो का पानी निकल गया.
ये सब करके मुझे बाद मे काफ़ी बुरा लगा मैने कसम खाई की आगे से मैं ये सब कभी नही करूँगा. अगले दिन मैं स्कूल से आया तो मैने देखा की हमारा नौकर घर आया हुआ है. वो पापा के कमरे की सफाई कर रा था. तभी भाभी ने मुझे मार्केट भेज दिया. जब मैं थोड़ा सा आगे गया तभी मुझे याद आया की मैने पैसे नही लिए है.

More Sexy Stories  Sex With Married Auntie In Delhi

घर वापिस आया तो मैने देखा की भाभी रामू के साथ चिपकी हुई उसे किस कर रही है. रामू मुझे देख कर भाभी को छोड़ कर वाहा से भाग गया. और मैं भाभी को गुस्से मे देखने लग गया. तभी भाभी रोते हुए मुझसे कहने लगी की तुम्हारे भाईया एक नंबर के ना मर्द है. इसलिए उसे अपनी चूत की प्यास बाहर से शांत करवानी पड़ती है. मैने तुमसे एक बार शांत करवाई थी पर तुमने मुझमे इंटरेस्ट ही नही लिया.
ये कहते ही भाभी ने मुझे गले से लगा लिया और मुझे नंगा कर दिया और खुद भी पूरी नंगी हो कर मेरा लंड चूसने लग गई. उस दिन पहले भाभी ने खुद को मुझसे अच्छे से चुदवाई. पर बाद मे मैने भाभी को इतनी बुरी तरह चोदा की वो 2 दिन तो ठीक से चल भी नही पाई.

Pages: 1 2