भाभी की चुदाई इन गुजरात

हाय फ्रेंड्स, आई एन राजा एक कंपनी मे सिविल इंजिनियर की पोस्ट पे कार्यरत हूँ और मेरी हाइट 5’8” है एंड नॉर्मल वेट सावला बदन एक सिंपल बॉय हूँ, ये कहानी मेरी और भाभी की चुदाई की है और ये बात उन दीनो की है जब मैं इंजिनियरिंग की स्टडी ख़त्म करके जॉब के लिए गुजरात भैया के पास गया जहा पर 24 साल की भाभी (प्रिया) और उनकी एक 3 साल की बेटी (सोनिया) रहती है, भाभी की तो जितनी तारिग की जाए कम है और भाभी बहुत ही सेक्सी है और उनका साइज़ 34,32,36 है और जब शादी (2004) मे आई थी तभी से हम दोनो एक बहुत आछे फ्रेंड्स है, हम दोनो एक दूसरे से सभी बाते शेर करते है गर्लफ्रेंड और बाय्फ्रेंड से लेकर चुदाई तक हम तो चुदाई की स्टोरी भी पढ़ते है और जब मैं घर पर था और भाभी भी घर पर थी तो हम दोनो रात के 11 बजे तक बाते करते दिन और रात जब भी टाइम मिला शुरू हो गये बट कभी थिंक नही किया की भाभी को चोदु बट वन डे मैं ईव्निंग मे पार्टी मे जा रहा था.

तो अंकल के घर गया तो देखा भाभी नही है आंटी से पूछा तो पता चला की गुस्सा है और रूम मे अंधेरे मे लेटी थी, तो मैं अंधेरे मे ही जा रहा था अंदाज नही मिला और मेरा हाथ भाभी की प्यारी चुचियों पर चला गया और मुझे ज़ोर का करेंट लगा और मैं हाथ हटा नही पाया क्यूंकी इतनी प्यारी चुचियाँ थी की मन कर रहा था की दबाता राहु और चूस चूस के दूध निकाल दू पर कंट्रोल किया और भाभी एक दम शांत थी, तो फिर मैने हाथ हटा के पूछा क्या हुआ भाभी बोली कुछ नही सम्तिंग पेन इन हेड मैं पूछा मेडिसिन ला दू बोली नही आराम हो जाएगा मैं बोला ओके और मैं चला गया तभी से मैं भाभी की चुदाई की सोच लिया, चोदु कैसे प्लॅनिंग करने लगा और मोके तो बहुत मिले बट डरता था की कही भाभी बुरा मान जाएगी तो मैं अपना सबसे प्यारा दोस्त खो दूँगा और यही सोच कर मैं नही चोदा और कुछ टाइम बाद मैं बाहर स्टूडी के लिए निकल गया और भाभी भी भाई के पास रहने लगी.

More Sexy Stories  अपने देवर के दोस्त से चुदाई की

मैं भी स्टडीस मे बिज़ी हो गया और कभी-कभी बात होती थी, फिर आफ्टर 4 ईयर हम दोनो की मुलाकात हो ही गयी हम दोनो बहुत खुश थे हमने मिल के खूब एंजॉय किया एक दिन भैया को ऑफीस के काम से मुंबई जाना पड़ा उसी दौरान मैने भाभी को बीएफ मोबाइल मे देखते हुए देख लिया बट भाभी ने मुझे नही देखा था, भाई के जाने के बाद नाइट को हम तीनो (भाभी मैं और उनकी बेटी) 10 बजे तक मैं नही गया तो भाभी ने बोला आज रूम सोने नही जाना है क्या, मैं बोला नही आज यही सोना है, नही तुम्हारे भाई नही है कोई क्या सोचेगा मैं बोला ठीक है जा रहा हूँ और मैने देखा की उनकी बेटी सो गयी है तो मैं रिमोट लिया और उनके पास जाके बैठ गया और लाइट पहले से बंद थी तो मैं टीवी भी बंद कर दिया और अंधेरा हो गया और अचानक मैं किस करने की नाकाम कोशिश किया मुझे ऐसा लगा की जैसे वो पहले से ही जान रही हो की मैं किस करूँगा.

मुझे किस भी नही मिला और भाभी गुस्सा हो गयी और बोली अभी तुम जल्दी से चले जाओ और तब मैं चला गया ऑलमोस्ट 10 मिनिट्स बाद भाभी की कॉल आती है और वो मुझे धमकाने लगी की भाई को बता दूँगी तो हम लोग इतना विश्वास किए तुम ऐसा कर रहे हो तो मैं डर गया और सोचने लगा सही अगर भाई को पता चला तो क्या होगा, बट मॉर्निंग मे जब सो के जगा तो रूम पे कैसे जाउ सोच रहा था और फिर सोचा अब तो हो गया जो होना था और भाभी से नज़रे चुरा रहा था और भाभी बोली क्या हुआ मैं बोला कुछ नही भाभी बोली मैं तुम्हे अछा समझती थी बट मैं क्या करू कुछ समझ नही पा रही हूँ और मैं अब जल्दी सोने चला जाता फिर भाई 2 डेज़ मे रिटर्न आ गये बट भाभी भाई के आने के बाद बोली की कुछ बताना है आपको तो भाई बोले क्या तो भाभी मुझसे बोली बता दू तो मैं अंजान बन के बोला क्या तो भाभी बोली आज कल बहुत शरारती हो गये है आपके भाई तो भैया ने बोला ऐसा क्या हो गया.

More Sexy Stories  शादी मे सेक्सी आंटी की चुदाई

तो भाभी बोली कुछ नही और ऐसा बोल के बात टाल दी और अब भाभी मुझे अक्सर छेड़ती रहती और मैं भी पीछे नही हटा बोलने मे, एक दिन की बात है मैं खाना खा के टीवी देखा फिर ऑफीस सोने के लिए जाने लगा बाहर देखा तो चप्पल नही है तो मैं पूछा भाभी चप्पल कहा है तो वो बाहर ही अंधेरे मे बैठी थी और भाभी बोली मुझे क्या पता जहा तुम रखे होगे वही होगी, तो मैं बोला नही है और उनके पास गया तो देखा की मेरी चप्पल पहन के लेग उपर करके बैठी है, तो मैं बोला मेरी चप्पल दो मुझे जाना है लेट हो रहा हैं और भाभी बोली जिसकी है वो निकाल ले तो मैं निकालने की कोशिश कर रहा था तो वो दबा के रखी थी जिससे उनके चूतड़ टच हो रहे थे और पैंटी एक दम क्लियर उपर से पता चल रही थी जो की मेरे हाथ से टच हो रही थी और भाभी भी कुछ नही बोली तभी मैं उनकी पैंटी की लस्टिक को खिच लिया तब भी नही बोली और मैं अब उनके चूतड़ पर हाथ फेर के उनके सेक्सी चुतडो का आनंद ले रहा था.

Pages: 1 2