बहन को बर्थडे पर चुदाई का गिफ्ट

Bahan ko birthday par chudai ka gift – Sexy Story

Bahan ko birthday par chudai ka gift - Sexy Storyनमस्ते दोंस्तो मेरी और मेरे सेक्सी बहन की चुदाई की सेक्सी कहानी में आप का स्वागत है। यहाँ आप पढेंगे की कैसे मैंने अपने मां की लड़की की चुदाई की।
स्टोरी शुरू करता हु, मेरा नाम समीर है। मैं चैन्नई स्टडी कर रहा हूँ। मेरी उम्र 21 साल है और मैं थोड़ा मोटा हूँ पर दिखने में स्मार्ट हूँ, रोमेंटिक हूँ और मेरा लण्ड का साइज़ 5.5 इंच है! मैं आपको अपनी चचेरी बहन के बारे में बता दूँ। उसका नाम स्वीटी है, और उसका फिगर कमाल का है, उसको देख कर किसी का खड़ा हो जाए! 36सी की चूचियाँ है उसके पैर बहुत सुन्दर है और, क्या गांड है! उसको देख कर ही इसकी गांड मारने को मन करता है थोड़ी मोटी है पर मस्त है!

सीधा कहानी पर आता हूँ! यह बात कुछ 2 महीने पहले की है, उस वक्त मैं और स्वीटी जस्ट नॉर्मली बात करते थे, फिर धीरे धीरे मिलने लगे, रात को मेसेज करने लगे! अगस्त 20, को उसका बर्थडे था, मैंने रात को 12 बजे उसे विश किया और बातें की, उससे पूछा कि, उसे क्या चाहिए गिफ्ट में?

उसने कहा- तुम हो ना बस! और कुछ नहीं चाहिए!

अगले दिन जब मैं उसके घर गया, तो वो घर पर अकेली थी, मैंने पूछा- आंटी, अंकल कहाँ हैं?

उसने बोला- वे लोग शोपिंग करने गए हैं! मैंने उसे विश किया और हग किया। उसे और मुझे बहुत अच्छा लगा, उसके बूब्स मेरे छाती पर टच हो रहे थे। मुझे अच्छा फील हो रहा था!

मैंने उसे गाल पर किस किया और उसको तोहफा दिया, उसमें एक कार्ड और चॉकलेट का बॉक्स दिया था।

उसे चॉकलेट्स बहुत पसंद हैं! उसने मुझे थैंक्स! बोला और फिर से हग करने लगी।

मैंने कहा- मेरा रिटर्न गिफ्ट!

वो बोली- क्या चाहिए?

मैंने कहा- जो तुम दे दो! ले लूँगा!

More Sexy Stories  ससुर जी और मैं एक साथ

उसने बोला- नहीं! तुम बोलो तो!

मैंने कहा- फिलहाल एक किस से काम चल जाएगा! तो वो किस करने के लिए आगे आई।

मैने चेहरा हटा लिया और किस सीधा लिप्स पर हुआ। मैने जानबूझ कर ऐसा किया था!

उसने बोला- कमीने! जान कर ऐसा किया ना! फिर हम एक दूसरे से लड़ने लगे, मारने लगे थे!

हम सोफे पर बैठ गए, मैंने कहा- मुझे अच्छा लगा किस!

उसने शरमाते हुए बोला- मुझे भी!

मैने उसकी आँखों में देखते ही एक और किस किया और उसने भी साथ दिया! तभी उसके मम्मी पापा की कार की आवाज़ आई और हम अलग होकर ठीक से बैठ गए!

हमने दोनों से जाकर आंटी अंकल की हेल्प की और मैं लंच करके घर चला गया।

उस दिन रात को मैं 2 बार मुठ मारा उसके किस को सोच कर! रात को उससे चैट किया।

तब उसने बताया कि, उसे किस करने में बहुत मज़ा आया, और वो दोबारा करना चाहती है!

मेरे मन में तो लड्डू फूटने लग गए तभी उसने बोला- कल मम्मी पापा बाहर जा रहे हैं, रात को आएँगे तो, तुम मेरे घर आ जाना!

मैने- हाँ कर दी!

अगले दिन मैं उसके घर गया वो नाईटी में थी। उसे देख कर ही मेरा लण्ड खड़ा होने लगा, फिर हम बात करने लगे।

मैं उसके पास जाकर बैठ गया और उसके गाल पर किस किया, उसने मुझे लिप्स पर किस किया और हम किस करते रहे!

करीब 10 मिनट तक मैं उसके बूब्स दबाता कर रहा! उसे अच्छा लग रहा था! मैंने उसकी नाईटी के बटन खोले और ब्रा के ऊपर से दबाने लगा और वो आह! ऊह! कर रही थी, फिर मैंने उसकी नाईटी उतारी और उसकी ब्लैक ब्रा खोली।

उसके बूब्स दबा रहा था! निप्पल्स चूस कर रहा था! उसे अच्छा लग रहा था! वो- म्मम्म! हम्म्म! की आवाज़ निकाल रही थी! मेरा सर दबा रही थी! उसके बूब्स पर फिर, मैंने उसके नाभि पर किस की! चूमा और उसकी रेड पैन्टी उतारने लगा!

More Sexy Stories  मालकिन की चुदाई देखी

उसकी चूत एकदम क्लीन शेव थी, मैंने उसमें उंगली की और बाद में चूसने करने लगा उसके जी स्पॉट को टच किया, तो वो मचलने लगी और मेरा सर अपने चूत में दबाने लगी!

वो एकदम अकड़ गई! उसका जूस निकलने वाला था और एकाएक वो आह! हाई! करके झड़ने लगी और मैं पूरा रस पी गया और उसे किस किया!

मैंने उसको अपना लण्ड चूसने को दिया, पर वो मना करने लगी फिर मैंने रिक्वेस्ट किया तो वो मान गई! उसने मेरा लण्ड अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी!

मुझे बहुत मजा आ रहा था! ऐसा लग रहा था जैसे पूरी लाइफ उसके मुँह में अपना लण्ड डाले रखूँ! पर!10 मिनट्स में ही मैं उसके मुँह में झड़ गया और वो मेरा सारा रस पी गई!

मैं उसे गोद में उठा कर बेड पर ले गया और, उसकी चूत को चूसने लगा! उसे बहुत मजा आ रहा था!
वो बोल रही थी- आज बस! डाल दो अन्दर अपना पूरा लण्ड मेरी चूत में! मैंने अपना लण्ड उसकी चूत पर रखा और हल्का सा झटका दिया।

मेरा लण्ड थोड़ा अन्दर घुस गया! तो उसे दर्द होने लगा और वो मना करने लगी- निकालो प्लीज! बहुत दर्द हो रहा है!

मैंने उसकी एक भी ना सुनी और दो धक्का और मारा, तो लण्ड उसके चूत के अन्दर घुस गया! वो चिल्लाने लगी और रोने लगी!

मैंने उसे किस किया, चूचियों को दबाया तब वो थोड़ा शांत हुई! फिर मैने लण्ड को अन्दर बाहर करना शुरू किया। उसे दर्द हो रहा था! पर मीठा-मीठा!

अब उसे मजा आने लगा और वो सिसकारियाँ लेने लगी- आह्ह्ह! हम्म! ऊह्ह! और जोर से करो! आह! हम्म! आहाह! मार गई मैं तो! और जोर से करो मेरी जान!

Pages: 1 2