आंटी की गॅंड गाव मे चोदि

aunty ki gand chodi gaav mai दोस्तो ये हिन्दी पॉर्न स्टोरी देसी चुदाई तब की है जब मैने एक गाओं की 40 साल की औरत को उसी के घर जा कर चोदा था. मैं वैसे तो हरयाणा मे रहता हूँ पर एक दिन मुझे ऑफीस के काम से पंजाब के गाओं मे जा कर अपने ऑफीस के नये प्लांट के लिए वाहा पर ज़मीन देख कर आनी थी.

इसलिए मैं सुबह ही 7 बजे अपनी ही कार मे घर से निकल गया. मुझे उम्मीद थी की मैं जैसे तैसे रात को 8 बजे तक घर आ जाउन्गा.

पर भगवान को कुछ और ही मंजूर था. मैं वाहा से रात को 8 बजे ही निकला और जल्दी जल्दी गाओं से निकलने की कोशिश कर रहा था. पर तभी मेरी कार की फॅन बेल्ट टूट गई और कार वही पर खड़ी हो गई. अब मुझे स्मझ नही आ रहा था की अब क्या होगा.

क्या पूरी रात मुझे कार मे ही काटनी पड़ेगी क्योकि इस टाइम ऐसे इलाक़े मे कोई मॅकॅनिक भी नही मिल सकता. मैं कुछ देर ऐसे ही सोचता रहा की तभी दूर से लाइट चमकने लग गई. मेरे मन मे उमीद जागी की एक कार आ रही है अब कोई ना कोई जुगाड़ तो हो ही जाएगा.

जैसे ही वो मेरे पास आया तो पता चला की वो कार नही एक ट्रॅक्टर है. उस पर एक पंजाबी सरदार था मैने उससे मदद माँगी तो उसने कहा की साहब जी इस टाइम तो यहा कुछ नही हो सकता आप ऐसा करो की मेरे घर चलो आज की रात मेरे घर काट लो कल सुबह कार ठीक करवा कर वापिस चले जाना. अब मेरे पास कोई और रास्ता नही था मैने उसे हान कर दी. फिर उसने मेरी कार को अपने ट्रॅक्टर के पीछे अटॅच किया और मुझे और मेरी कार को अपने घर ले गया.

घर आते ही उसने अपनी मा को आवाज़ लगाई – मा बाहर आओ देखो एक मेहमान आया है आज हमारे घर वो जल्दी इसके लिए डिन्नर का इंतज़ाम कर दो. जैसे ही उसकी मा बाहर आई तो उसे देख कर तो मेरे होश उड़ गये. सच मे पंजाब की औरते दिखने मे कमाल की होती है ये मुझे आज पता चल गया.

More Sexy Stories  दीदी के बूब्स गिफ्ट मे मिले

वो करीब 40 साल की होगी पर उसका जिस्म और फिगर जबरदस्त था उसे देखते ही मेरा लंड उसका दीवाना हो गया. उसके मोटे मोटे बूब्स और चुत्तरो पर मेरी नज़र अटक गई. फिर मैने और उस सरदार ने एक साथ बैठ कर डिन्नर किया और थोड़ी बहोत बातें मारी.

डिन्नर करने के बाद सरदार ने एक रूम मे मेरा बिस्तर लगा दिया और कहा देखा साहब जी मैं तो जा रहा हूँ खेतो मे मुझे पानी देना है और मैं अब सुबह ही आउन्गा अगर आप को कोई ज़रूरत हो तो मा को बुला लेना. आप और मा दोनो घर मे अकेले ही हो ठीक है.

ये कह कर वो घर से चला गया और मैं बिस्तर पर लेट कर उसकी मा के बूब्स और चुत्तरो को याद कर के मूठ मारने की तैय्यारि कर रहा था. मैने अपना लंड बाहर निकाला हुआ था और अपने हाथ से उसे उपर नीचे कर रहा था. तभी अंदर उसकी मा आ गई और मेरे लंड को देख कर बोली – सुनो अगर आप को बाथरूम जाना हो तो बाहर जाना होगा क्योकि यहा अभी बाथरूम नही है.

मैने झट से अपना लंड अंदर कर लिया और बोला – हहान जी अछा मुझे बता दो की कहा पर जा कर मैं पेशाब कर सकता हूँ.

वो बोली – चलो मेरे साथ आप को दिखा देती हूँ की आप को रात मे परेशानी ना हो.

फिर मैं उसके पीछे पीछे चलने लग गया. वो मुझे अंधेरे मे ही अपने घर से थोड़ी दूर ले गई और बोली – ये है जगह अगर आप को पेशाब आ रहा है तो यहीन कर लो.

More Sexy Stories  Sex With Married Auntie In Delhi

मैने कहा हान जी आ रहा है. वो बोली ठीक है आप कर लीजिए है मैं मूह फेर कर खड़ी हो जाती हूँ. मैं उसकी मस्त गॅंड देख रहा था जिसकी वजह से मेरा लंड पूरा खड़ा हुआ था. मैने पेशाब कर लिया था. अब हम वापिस घर जा रहे थे वो मेरे आगे जा रही थी और मैं उसके पीछे उसकी मस्त गॅंड को देखते देखते आ रहा था.

तभी अचानक उसका पैर फिसल गया और वो मेरे उपर गिर गई अब मैं ज़मीन पर पड़ा हुआ था और वो मेरे उपर मेरा खड़ा लंड उसकी चुत्तरो की दरार मे घुसा हुआ था. और मेरे दोनो हाथ मे उसके बूब्स थे. हम कुछ देर ऐसे ही लेटे रहे शायद वो मेरे लंड के मज़े ले रही थी.

फिर हम खड़े हुए और फिर वो बोली – मुझे माफ़ करना पर आप एक बात बताओ की आपका लंड हमेशा ही ऐसे खड़ा रहता है.

मैं बोला – नही ऐसे नही खड़ा होता ये कुछ स्पेशल चीज़ देखकर ही खड़ा होता है.

वो बोली – वो कोनसी चीज़ है ?

मैने उसकी गॅंड पर हाथ फेरते हुए कहा – ये है वो चीज़ जिसे लंड ने पागल किया हुआ है.

तब तक हम घर आ गये थे वो मुझे अपने बेड रूम मे ले गई और फिर बोली – अछा तो अब ये बताओ की आप के लंड को चूत चाहिए या गॅंड.

मैं बोला – इसे तो दोनो ही चाहिए.
ये सुनते ही उसने अपनी सलवार और कुर्ता उतार दिया और मैने देखा की उसने ना तो ब्रा पहनी हुई थी ना ही पैंटी. फिर उसने मेरी धोती उतार दी और मेरे लंड पर अपनी गॅंड रगड़ने लग गई.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *