लेस्बियन बहने सेक्स कहानी पढ़ कर किया सेक्स

Lesbian behne sex kahani padh kar kiya sex – Desi sex story

Lesbian behne sex kahani padh kar kiya sex - Desi sex storyप्रिया और सुप्रिया दो बहनें हिंदी सेक्स कहानी की शौकीन। दोनों अब जवान हो चलीं थीं, उनकी छोटी स्कर्ट उनके बड़े चूंचों को अक्सर न छुपा पाती थी और बडी चूंचियों को घूर के देखने वालों में स्कूल, मुहल्ले और अब तो घर के कुछ जवान और बुजुर्ग सदस्य भी शामिल हो गये थे। पर सबसे ज्यादा वो अपने स्तनों को नहाने के बाद आपस में घूर और टटोल कर देखती थीं। उन्हें इस बात का अंदाजा हो चला था कि उनके स्तन बढ रहे हैं। आज दोनों ही कालेज से वापस आईं तो अपने भाई मनोज की रैक में कहानियों के चक्कर में टटोलने लगीं। एकाद उपन्यास मिले और अंत में मिली एक मुड़ी तुड़ी किताब, पतली सी, किताबों के बीच में छुपा के रखी हुई।

प्रिया ने सुप्रिया को दिखाई और दोनों ने उसे स्कर्ट में खोंस कर दूसरी मंजिल पर अपने बेडरुम में चली गयीं। अब बारी थी कहानी पढने की। प्रिया अक्सर पढ के सुनाती थी और सुप्रिया हां में हां मिलाती थी। प्रिया ने पहली कहानी शुरु की। भाई का लंड नमकीन! प्रिया- छि छि कितनी गंदी कहानी है, मन कर रहा है कि अभी खिड़की से बाहर टुकड़े टुकड़े करके फेंक दें इस किताब को! सुप्रिया – ” अरे यार रुको! जरा धीरे धिरे पढो, फिर फेंक देंगे। प्रिया ने कहानी शुरु की – मेरा नाम आशा है, मेरी उम्र अठारह है, मेरी चूंचियां छ्त्तीस साईज की हैं और मेरे हुस्न को देखने के लिए सभी लोग मुहल्ले में लालायित रहते हैं। आज मेरा भाई जो कि मुझसे छोटा था। उसने मुझे नहाते हुए देख लिया। और मूठ मारने लगा।” सुप्रिया – अरे ये मूठ मारना क्या होता है। प्रिया – पगली, लड़के अपना नून्नू पकड़ के हाथों से हिलाते हैं ना, उसे ही मूठ मारना कहते हैं। सुप्रिया – ओह! ऐसा क्या मजा आता है उनको? अब प्रिया की चूत में हलचल मच रही थी।

उसने कहानी आगे सुनाते हुए कहा। आशा ने अपने भाई को बाथरुम के दरवाजे के पास मूठ मारते पकड़ लिया और उसे अंदर खींच लिया। भाई का लंड पकड़ के उसने उसे चूसना शुरु कर दिया। अब आशा का बदन भीगे होने के बावजूद जल रहा था। प्रिया इतना पढ के रुक गयी। उसे शायद चूत में खुजली हो रही थी और सुप्रिया ने कहा कि कहानी तो आगे पढ। प्रिया ने कहानी को मोड़ के रख दिया और अपनी स्कर्ट खोल दी। दरवाजा पहले से बन्द था। उसने सुप्रिया के सामने ही अपनी टाप भी खोल दी। सुप्रिया अवाक! पागल हो गयी क्या बहना? प्रिया ने कहा – देख आज ना हम दोनों कुछ करते हैं। सुप्रिया ने कहा क्या करने वाली हो तुम तो प्रिया ने आलमारी खोली। उसमें से निकाला एक केलों का गुच्छा और कहा – देख इसे मान ले भाई का लंड्। और चल ले ले इसे अपने मुह में मान ले कि कहानी में जो भी हो रहा था हमारे साथ ही हो रहा था।

More Sexy Stories  गर्लफ्रेंड डिम्पल को कार में चोदा

ऐसा सुनकर सुप्रिया सहमत हुई दोनों बहनों ने एक एक केला ले लिआ और अपने मुह में अंदर बाहर करने लगी। प्रिया ने सुप्रिया को भी नंगा कर दिया। बिना बाल की सफाचट कंवारी चूत अब जोड़े में दिख रही थी। सुप्रिया को नीचे लिटा कर प्रिया ने कहा – रुक तेरे को मजा देती हूं। वो उसकी चूत के उपर बैठ गयी। दोनों की चूत ट्करा रही थी। कहानी हाथ में लेकर उसने पढना शुरु किया – आशा के भाई ने उसके चूंचे चूसे” अरे वाह ये तो मैं भी कर सकती हू। और उसने अपनी बहन के चूंचे उसकी चूत पर बैठे बैठे चूसने शुरु किये। सुप्रिया मचल रही थी! क्या कर रही हो बहन! पागल हो गयी हो क्या आह्ह्ह्॰ उफ्फ़्फ धीरे धीरे चूसो। और प्रिया तो राजधानी एक्स्प्रेस हो गयी थी। उसने अपनी कमर हिलाते हुए सुप्रिया की चूत में अपनी चूत रगड़ते हुए सुप्रिया के एक चूंचे को पकड़ के जोर से दबा दिया। सुप्रिया चीख उठी – अबे मारेगी क्या? प्रिया ने कहा नहीं यार , बस मजे दे रहीं हूं तुझे अब रुक बताती हूं।

और प्रिया ने सुप्रिया को पेट के बल लिटा कर उसके पेट के नीचे एक तकिया रख दिया। अब क्या करेगी तू प्रिया? प्रिया – रुक यार तेरे को जिंदगी के मजे चखाती हूं। और अब उसने दो केले निकाले। केलों में कांडोम लगाया और एक केला सुप्रिया की गांड के छेद पर रगड़ने लगी। सुप्रिया डर गयी और बोली, रुक यार ये क्या कर रही है, वो ह्गने के लिए है केला खाने के लिए मुह होता है। प्रिया हसने लगी – ही ही दी तू भी ना एकदम घोंचू रह गयी। और उसने सुप्रिया से कहा- चल मेरे हथेली पर थूक! जैसा कहती हूं वैसा ही किये जा। अब प्रिया ने सुप्रिया का ढेर सारा थूक उसके गांड पर मल दिया। खुद भी उसने गांड और चूत पर जम के थूका और कंडोम लगे केले से धीरे धीरे गांड में घुसाने लगी। सुप्रिया -अ आह फट जाएगी यार क्या कर रही हो। पर वो रुकी नहीं और केला आधा घुसा दिया। अब उसने वही काम दूसरे कंडोम लगे केले से उसकी चूत में करना शुरु किया।

More Sexy Stories  Meri Saaliyon Ka Javab Nahi

प्रिया ने दोनों छेदों में केले घुसाते हुए स्पीड बढा दी। सोचो कि दोनों भाई तुम्हें चोद रहे हों। क्या सुप्रिया ने अपनी आंखें बंद कीं और सोचने लगी। आकाश और अमन दोनों ही मुझे चोद रहे हैं। आह्ह आह्ह्ह चोदो भैया मेरी गाँड को चोदते रहो। मस्त चोद दो, मुझे। उसने आंखें मूंदे ही बड़बड़ाना शुरु कर दिया था। अब दोनों ही मस्ती में थीं आधे घंटे तक प्रिया ने सुप्रिया को फंतासी देते हुए चोदना जारी रक्खा और फिर मौका मिलते ही कहानी में ट्विस्ट आ गया। सुप्रिया अब ड्राईविंग सीट पर थी और सुप्रिया के छोटे छेदों में दो दो केले घुसा रही थी।

अचानक कंडोम कम पड गया और उसने एक केला अंदर गांड में डाला जो टूट गया। अब कोई चारा नहीं था सिवाय जीभ अंदर घुसा कर केले को धीरे धीरे बाहर की तरफ खींचने के। प्रिया को इस केले को जीभ से बाहर निकलवाने में मजा आ रहा था और वह अपनी चूत को रगड़ते हुए बड़बडा रही थी, चोदो भैया चोदो मेरी चूत को। आह्ह आह्ह और कहानी के सीन के बारे में सोचती रही। केले के बाहर आते ही उसने एक केला छील कर अपनी चूत में घुसेड़ लिया और सुप्रिया को फिर एक चैलेंज दे दिया। सुप्रिया ने उसके चूत से फिर जीभ अंदर घुसेड़ केले को खींच खींच के खाया। आज दोनों बहनों ने अश्लील कहानी पढ कर एक नयी लेस्बियन कहानी बना दी थी। आज भी वो ये कहानी दुहराती रहती हैं।

Comments 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *